“सेवा सहकारी समिति घिंवरा जैजैपुर का है मामला”

जांजगीर-चाम्पा – जिला के शासकीय उचित मूल्य की दुकान में या पंजीकृत समितियों के द्वारा जीवित लोगों को राशन दिया जाता है । लेकिन यहां पर परलोक सिधार चुके लोगों के नाम पर भी कई महीनों से चावल का उठाव हो रहा है । समिति के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की इस मामले पर मौन और सेल्समैन के द्वारा राशन वितरण किया जाना, मिलीभगत होने की ओर एक इशारा है । अगर सूत्रों की मानें तो उपाध्यक्ष भी हर माह बोरी बोरी चावल को यहां से अपने घर लेकर जाते हैं ।

गौरतलब है कि जनपद पंचायत जैजैपुर के अंतर्गत सेवा सहकारी समिति मर्यादित घिवरा पंजीयन क्रमांक 881के अंतर्गत संचालित शासकीय उचित मूल्य की दुकान में मृत्यु हो चुके अनेकों उपभोक्ताओं के नाम राशन का उठाव हो रहा है।और राशन का उठाव किसके द्वारा किया जा रहा है ,संबंधित घर वालों को इसका पता ही नहीं है ।
शिकायत कर्ता के शिकायत के आधार पर बलराम कश्यप पिता मुनि राम कश्यप , मंगलावतबाई पति लाला राम, बुन्दकुवर पति महत्तर , लक्ष्मण बाई पति छेणु राम सतनामी ,सिद्धि बाई पति सीताराम आदि एक दर्जन से भी अधिक हितग्राहियों के नाम पर चावल का वितरण माह अक्टूबर-नवंबर 2018 में किया गया है । जबकि इन लोगों का मृत्यु हुए 6 माह से अधिक हो रहा है।
किसी को 2 साल तो किसी को 3 साल तो किसी को 6 साल तक के भी हो गए हैं । उसके बावजूद भी यहां पर प्रत्येक माह चावल का उठाव हो रहा है । मजेदार बात यह है कि 6 साल पहले मृत्यु हो चुकी सुहावन बाई कश्यप पति गुडरिहा कश्यप के नाम पर भी चावल का वितरण किया जा रहा है । ग्रामीणों के द्वारा जिसकी शिकायत उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं जांजगीर चांपा से किया गया है ।इस पर प्रशासन कितना गंभीर है, यह तो जाँच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा।

“इस मामले में जांच करने के लिए टीम गठित करके भेजा गया है । जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद ही दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।”

विमल दुबे    खाद्य अधिकारी सक्ति

SHARE